आत्मविश्वास को बढ़ाने के 5 प्रभावशाली तरीके

 

आत्मविश्वास  हो तो आप कुछ भी पा सकते है | यहाँ पर ये  जानेगे कि, आप जो भी कर रहे है, उसके लिए  अपने आप को प्रेरित कैसे  रखे |

अक्सर ये पाया जाता है कि हमे आता तो बहुत कुछ है, पर आत्मविश्वास  कि कमी के कारण हम अपने लक्ष्य तक नहीं पहुच पाते|

आज केप्रतियोगी दौर मे आत्मविश्वास कि जरुरत पहले से कही जायदा बढ़ गयी है |

अगर जरा धयान से सोचे तो हमे ये पता चलेगा कि आत्मविश्वास कि कमी  का मूल कारण हमारे आसपास का वातावरण ही होता है| हम जिस तरह के माहौल में रहते है ठीक उसी तरह कि प्रोग्रामिंग हमारे दिमाग  मैं हो जाती है |

अच्छी खबर ये है कि अगर आप चाहे तो इन छोटी – छोटी आदतों से अपने आपको  रोजाना सकारात्मक रख सकते है |

आप इसको सिर्फ पढ़े नहीं बल्कि रोजाना इसकी अभ्यास भी करे वो भी अभी से| शुरुवात मे आपको थोडा कठिन लगेगा पर धीरे धीरे आप अपने में एक सकारात्मक ऊर्जा महसूस करना शुरू कर देंगे |

जहा एक बार आपने इन् आदतों को अपने जिंदगी में अपना  लिया तो बस आपको एक  प्रेरित और आत्मविश्वासी  व्यक्ति बनने में जयादा वक़्त नहीं लगेगा |

 

1. नकारात्मकता से दूर रहे और खुद को सकारात्मक रखे

सबसे पहले आपको ये देखना है कि आपके इनर सर्कल में कौन है , जैसे आपके मित्र और परिवार में|  हां अपनों से दूर होना थोडा कठिन जरुर लगेगा पर ये वो समय है जब आपको फैसला करना है और उन लोगो से दूरी बनानी  है जो बात बात पर आपका मजाक बनाते है और आपको नीचे करने का एक भी मौका नहीं छोड़ते|

अगर आप थोड़े समय के लिए भी ऐसे लोगो से दूरी बना ले तो आप एक बहुत बड़ा बदलाव महसूस करेंगे और ये आपका पहला कदम  होगा एक आत्मविश्वास से भरी जिंदगी कि तरफ |

अपने आपको सकारात्मक रखने कि कोशिश करे, अगर अभी भी महसूस नहीं कर पा रहे है तो जब किसी से बात करे तो एक उत्साह के साथ करे, अपने नये काम को एक उत्साह के साथ शुरू करे| अपने समस्या पे फोकस करना छोड अपना धयान उसके समाधान पर लगाये |

 

2. अपने हावभाव और तौर तरीको को बदले  

अब आपको अपने ढंग , मुस्कुराहट, आँखो  से संपर्क और भाषण  पे धयान देना है | किसी के सामने खड़े हो तो कंधे को सीधा रखे , इससे सामने वाले को लगेगा कि आप विश्वस्त है| चेहरे पे एक हल्की सी मुस्कान ना सिर्फ आपको आच्छा लगेगा बल्कि सामने वाले भी आपके साथ सुविधापूर्ण महसूस करेंगे |

आप जिससे बात कर रहे है उससे आँखो  से संपर्क बना के रखे ना कि इधर उधर देखे | धीमे आवाज में बात करे | कई शोध से ये बात सामने आई है कि जो लोग समय ले कर धीरे और साफ साफ बोलते है , उन्हें लोग विश्वस्त मानते है |

वेशभूषा का भी धयान रखे और ऐसे कपडे न पहने जिसमे आप आरामदायक ना कर हो |

 

3. असफलता सिर्फ जीवन का एक हिस्सा है , ये पूरी जिंदगी नहीं है 

सदा प्रयास करते रहे | जिस तरह सफलता भी स्थिर नहीँ है उसी तरह असफलता भी | इस दुनिया में अगर समास्यें है तो उनका समाधान भी है |

तो अपने आप को क्यों कोसना , एक बात हरदम याद रखिये जब आप किसी बड़ी मुसीबत डटकर बाहर निकलते है तब आपका का मनोबल सातवे आसमान पर होता है|

आत्मविश्वास कि कमी  होने का एक और कारण है नकारात्मक विचार जो हमेशा आपके मन में चलता रहता है | अगर आप हमेशा ऐसा सोचते रहे कि मेरा कुछ नहीं हो सकता , मैं स्मार्ट नहीं हु, मेरी व्यक्तित्व अच्छी नहीं है तो कही न कही आप अपने आप को ऐसा बना रहे है | असल में  आप मन में जैसा सोचते है आप वैसे ही बन जाते है, हमारा दिमाग सकारात्मक और नकारात्मक उर्जा  के बिच फर्क नहीं कर पाता, उसे जो सुनाई पड़ता है, वो उसी को सच मान लेता है | तो अगले बार से इस बात का धयान जरुर रखे कि आप क्या सुन रहे है और क्या सोच रहे है |

 

4. चुनौतिओ के लिए तैयार रहे 

अपने क्षेत्र को अच्छे से जाने, आपको आगे क्या करना है इसकी योजना  जरुर बनाये | अगर आप इन सब बातो पर धयान देते है तो आपका उत्साह और आत्मविश्वास दुगना हो जाता है |

 

5. जब परिस्थिति बहुत ख़राब हो तो ये करे

जीवन चुनौतियों से भरा है , अच्छा और बुरा समय लगा रहता है | जब आपका आत्मविश्वास  डगमगाने लगे और कुछ समझ न आये तो ऐसे समय के लिए एक सूची तैयार करे | आराम से बैठ जाये और ऐसे चीजो की  सूची बनाये जो आपने  प्राप्त किया है और जिसके लिए आप जिंदगी के कृतज्ञ है| जब ये सूची पूरी  हो जाये तो इसे आप किसी ऐसे जगह लगा दे,  जहा से आप इसे रोजाना देख सके | ये सूची आपको ये हरदम याद दिलाता रहे कि आप कितने अच्छे इन्सान है| जब भी आपका आत्मविश्वास डगमगाए तो आप इसे देख ले और फिर से प्रेरित हो जाये |

Share this

2 comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *